अरुण जेटली(arun Jaitly) मंत्री नहीं बनेंगे(todayindia)

नई दिल्ली। वरिष्‍ठ भाजपा नेता अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर उनसे उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल नहीं करने की अपील की है। जेटली ने पत्र में स्वास्थ्य कारणों का हवाला दिया है।(todayindia)(arun jaitly)
मोदी ने 2014 में सत्ता संभालने के बाद जेटली को तीन मंत्रालयों- वित्त, रक्षा और सूचना एवं प्रसारण की जिम्मेदारी सौंपी थी। पिछले साल मई में किडनी ट्रांसप्लांट के बाद से जेटली का स्वास्थ्य पूरी तरह सही नहीं है। फरवरी में वो अंतरिम बजट भी पेश नहीं कर पाए थे। उस वक्त जेटली अमेरिका में इलाज करवा रहे थे। उनकी जगह पीयूष गोयल ने बजट पेश किया था।(todayindia)(arun jaitly)

उन्होंने पत्र में कहा कि पिछले 18 महीनों से मेरा स्वास्‍थ्य ठीक नहीं है। मेरी सेहत पिछले कुछ समय से खराब है और डॉक्टरों ने आराम करने की सलाह दी है। मैं यह खत विनती करते हुए लिख रहा हूं कि मैं अपने स्वास्थ्य और अपने लिए वक्त चाहता हूं। इसलिए मैं किसी भी तरह की जिम्मेदारी वर्तमान और नई सरकार में नहीं संभाल सकता हूं।
जेटली ने पत्र में कहा कि यह मेरे लिए सम्मान की बात रही कि मैं पिछले पांच साल उस सरकार का हिस्सा रहा जिसका नेतृत्व आप (मोदी) कर रहे थे। इससे पहले भी पार्टी ने एनडीए के कार्यकाल में मुझे कई जिम्मेदारियां दी थी। मैं इससे ज्यादा की मांग नहीं कर सकता।(todayindia)(arun jaitly)

जेटली ने आगे लिखा, ‘आपके नेतृत्व में भाजपा और एनडीए को प्रचंड जीत मिली है। नई सरकार कल शपथ लेगी। मैं आपको यह पत्र इसलिए लिख रहा हूं ताकि औपचारिक तौर पर आपसे अपने लिए, अपने इलाज और अपने स्वास्थ्य के लिए एक वाजिब समय दिए जाने की इजाजत ले सकूं। इसी कारण मैं नई सरकार में कोई जिम्मेदारी नहीं लेना चाहता। कोई जिम्मेदारी न होने से मेरे पास अनौपचारिक तौर पर सरकार और पार्टी का समर्थन करने के लिए समय रहेगा।'(todayindia)(arun jaitly)
============================
Courtesy